क्रिकेट इतिहास के सबसे अजीबोगरीब रिकॉर्ड्स, सालों से कोई भी नहीं कर सका इनकी बराबरी

खिलाड़ियों की दुनिया रिकॉर्ड्स के इर्द-गिर्द घूमती है. क्रिकेट में कई रिकॉर्ड बनते और टूटते आपने कई बार देखे होंगे,

लेकिन क्रिकेट जगत में कुछ ऐसे अजीबोगरीब रिकॉर्ड्स भी हैं जिन्हें बहुत कम लोग जानते हैं. इन रिकॉर्ड्स को सालों से कोई भी नहीं तोड़ सका है. इसमें कुछ ऐसे फैक्ट्स भी है जिसे आपने इससे पहले कभी नहीं पढ़ा होगा, जिन्हें जानकर आप हैरान रह जाएंगे.

 

1. क्रिस गेल

वेस्टइंडीज के विस्फोटक बल्लेबाज क्रिस गेल अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं, लेकिन बहुत कम लोगों को ही पता है कि वह एकमात्र बल्लेबाज है जो टेस्ट मैच की पहले गेंद पर छक्का लगा सके हैं. गेल ने 2012 में बांग्लादेश के खिलाफ इस उपलब्धि को हासिल किया था.

 

2. सुनील गावस्कर

टेस्ट मैच की पहली बॉल पर सबसे ज्यादा बार आउट होने का रिकॉर्ड भारत के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर के नाम हैं. सुनील गावस्कर 3 बार टेस्ट मैच की पहली बॉल पर आउट हुए हैं. इस रिकॉर्ड को अभी तक तो कोई भी तोड़ नहीं पाया हैं.

 

3. सौरव गांगुली

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के नाम भी एक अनसुना रिकॉर्ड दर्ज है. क्रिकेट इतिहास में सौरव गांगुली एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने वनडे में लगातार चार बार मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड जीते हैं. उन्होंने 1997 में पाकिस्तान के खिलाफ वनडे सीरीज में लगातार 4 मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड अपने नाम किए थे.

 

4. शाहिद अफरीदी

पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी शाहिद अफरीदी ने 1996 में 37 गेंदों में 11 छक्के और 6 चौके जड़कर उस समय सबसे तेज शतक जड़ने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था. लेकिन क्या आपको पता है इस मैच में अफरीदी ने सचिन तेंदुलकर के बल्ले का इस्तेमाल किया था. दरअसल अफरीदी के पास उचित बैट नहीं था इसलिए वकार यूनिस ने उनको सचिन का बैट खेलने के लिए दिया था.

 

5. जिम लेकर

इंग्लैंड के गेंदबाज जिम लेकर एक टेस्ट मैच में 19 विकेट लेने का कारनामा कर चुके हैं. इस रिकॉर्ड को आज तक कोई भी गेंदबाज नहीं तोड़ सका है. ये टेस्ट मैच में बना क्रिकेट का सबसे बड़ा रिकॉर्ड है. जिम लेकर ने इस टेस्ट मैच की पहली पारी में 9 विकेट झटके और दूसरी पारी में 10 विकेट झटके थे.